राजस्थानी गट्टे की कढ़ी - Rajasthani Gatte ki Kadhi

 

आवश्यक सामग्री

गट्टे बनाने के लिये 

  • बेसन 2 कप
  • तेल 1 टेबल स्पून
  • दही 2 बड़े चम्मच
  • सौंफ 1 छोटा चम्मच
  • खाना सोडा 2 पिंच
  • नमक स्वादानुसार
  • अजवाइन 1/4 छोटी चम्मच
  • खड़ी धनिया एक चम्मच

 

 कढ़ी बनाने के लिए

  • 2 कटोरी दही
  • 1 बड़ा चम्मच बेसन
  • आधा चम्मच हल्दी
  • नमक स्वादानुसार
  • आधा चम्मच मेथी दाना
  • एक चोथाई चम्मच जीरा
  • तेज पत्ता 2
  • लौंग 2
  • दालचीनी 1 इंच का टुकड़ा
  • हल्दी आधा छोटा चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर आधा छोटा चम्मच

सामग्री तडके के लिए

  • 1 टेबलस्पून घी
  • 4 से 5 करी पत्ता
  • आधा चम्मच राई
  • दो से तीन साबुत लाल मिर्च

 

 

गट्टे बनाने की विधि

  • बेसन को छान कर किसी बर्तन में निकालिये, तेल, नमक, सोडा, अजवाइन, सौंफ, दही और धनिया को कूट के मिला दीजिए.  

  • गुनगुने पानी की सहायता से नरम परांठे बनाने के जैसा आटा गूंथ लीजिये. गुंथे हुये आटे को 10 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये.

  • अब इस बेसन के आटे से छोटी लोई तोड़िये उससे करीब 4 इंच लम्बी बेलनाकार आकृ्ति के पतले रोल बना लीजिये. सारे बेसन से इसी तरह के रोल बना लीजिये.

  • किसी बर्तन में करीब 5 कप पानी (इतना पानी जिसमें बेसन के रोल उबाले जा सकें) डालिये और गैस पर उबालने रख दीजिये.

  • जब पानी में तेज उबाल आ जाए तब बेसन के रोल उबलते पानी में डाल दीजिये और 15 मिनिट तक उबलने दीजिये इसके बाद गैस बन्द कर दीजिये.

  • पानी से उन बेसन की गट्टों को कलछी की सहायता से निकाल कर एक प्लेट में रख दीजिये,

  • बचा हुआ पानी फेकिए नहीं सब्जी की तरी में काम आ जायेगा.

  • गट्टे ठंड़े होने के बाद उन्हें आधा इंच के टुकड़ों में काट लीजिये.

कढ़ी के घोल के लिये.

  • दही को मथकर एक बर्तन में निकालिये, बेसन को फैंटे हुये दही में मिलाकर, इसमें लगभग 1.5 लीटर पानी मिला दीजिये.

  • कढ़ाई में 1 टेबल स्पून तेल को गरम कीजिये, गरम तेल में हींग, मेथी और जीरा, तेजपत्ता, लौंग, दालचीनी डाल दीजिये, जीरा ब्राउन हो जाने पर, हल्दी और लालमिर्च पाउडर डालिए

  • अब इसमें बेसन और दही का घोल डाल दीजिए, घोल को कलछुल से तबतक चलाते रहें, जबतक घोल में उबाल न आ जाय. घोल में उबाल आने के बाद, आंच धीमी करके 15 मिनट तक पकाए या जब तक घोल थोडा गाढ़ा न हो जाये, अब इसमें गट्टे डाल दीजिये और कलछुल से चलाते जाये

  • कढ़ी में फिर से उबाल आने पर, उसमें नमक मिला दीजिये, कढ़ी को 10 मिनिट तक धीमी आग पर पकने दीजिये

  • लेकिन 2-3 मिनिट पर चलाते रहिये. आप देखेंगे कि कढ़ाई के ऊपर किनारों की ओर बेसन की मलाई आ रही है. गट्टे की कढ़ी बन चुकी है. कढ़ाई से कढ़ी को प्याले में निकाल लीजिये

तडके के लिए

  • तड़का पैन में घी गरम कीजिये इसमें राई, करी पत्ता लाल मिर्च, डालिए लाल हो जाने पर कढ़ी के ऊपर डाल दीजिए

  • हरी धनिया से सजा के रोटी या चावल के साथ परोसिये